MISSED BY CHANCE!

हम तुम कभी फ्लाइट से जो जाएँ
और फ्लाइट मिस हो
जाए

मुँह दिखाने के काबिल खुद को
न हम रह पाएं

सोचो कभी ऐसा हो तो क्या हो
सोचो कभी ऐसा हो तो क्या हो

हम तुम कभी फ्लाइट से जो जाएँ
और फ्लाइट मिस हो
जाए

एयरपोर्ट से बहार कैसे जाएँ
(अरे बाबा डर लगता है)
टिकट का रिफंड न हो पाए
(एईओ क्यों डरा रहे हो)

एयरपोर्ट से बहार कैसे जाएँ
टिकट का रिफंड न हो पाए

नए टिकट की कीमत जां लेले तो
लोन लेकर भी जो न चुके तो

सोचो कभी ऐसा हो तो क्या हो
सोचो कभी ऐसा हो तो क्या हो

हम तुम कभी लाउन्ज में बैठें
और भूख लग जाए
कसम से कुछ न खिलौन तुझे वहां से
चाहे भूखा मर जाए

हम तुम जो फ्लाइट से जाएँ
और फ्लाइट मिस जाए

AFTER ALL BHASAD

ऐसा ज़ख़्म दिया है
जो न फिर भरेगा
हर फ्लाइट में चढ़ने से
अब ये दिल डरेगा
हम मिडिल क्लास आदमी
बस यूँ ही उड़ रहे थे
सुन लो एयरलाइन्स वालो
ये हमसे अब न होगा..

Advertisement

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s